Home » India » रेल किराया बढ़ाने की तैयारी, गैस डीलरों की मनमानी से लोग हलकान

नई दिल्ली. गैस सिलेंडर को लेकर लोगों की मुश्किलें खत्म नहीं हो रही हैं। वहीं, ईपीएफओ  को लेकर भी एक अड़चन दिक्कतें पैदा कर सकती है। अब वेतन से पीएफ कटवा रहे कर्मचारियों को यह साबित करना होगा कि उन्हें नौकरी देने वाली संस्था ने वैधानिक तौर पर उनके वेतन से तय कटौती की है। इसके दायरे में पीएफ कटा रहे करीब 6.5 करोड़ कर्मी आएंगे। इसके अलावा जल्द ही आपका रेल सफर महंगा हो सकता है। सरकार रेल किराए के निर्धारण के लिए प्राधिकरण बनाने जा रही है।

इस साल 13 सितंबर को सरकार ने आदेश जारी कहा था कि बचे हुए साल में उपभोक्ताओं को रियायती दरों पर सिर्फ तीन सिलेंडर मिलेंगे। लेकिन इस आदेश को आधार बनाकर कुछ डीलरों ने मनमानी शुरू कर दी। कुछ डीलरों का कहना है कि उनके कुछ उपभोक्ता पहले ही रियायती सीमा के सिलेंडर ले चुके हैं। वहीं, कई डीलर इस बात को लेकर अड़े हुए हैं कि जब तक उनके उपभोक्ता केवाईसी फॉर्म नहीं भरेंगे, उन्हें सिलेंडर नहीं मिलेगा।
Related Posts with Thumbnails

No comments yet... Be the first to leave a reply!